FII and DII क्या है? और FII & DII in Share Market – 2022

FII and DII क्या है: हेलो Friends आपका स्वागत है हमारी Website Yogeshnet.com मैं दोस्तों कहते है अगर आपको Trading करना है तो आप इसके शब्दावली को समझिये यह समझना बहुत जरूरी है दोस्तों online share market में use होने वाले एक – एक words को समझिये. अगर आज मैं आपको FII और DII की full form और Hindi मतलब के बारे में समझाने वाला हूँ अगर आप Share market में अपना पैसे लगते है तो आपको FII and DII full form in Hindi और meaning के बारे में जानकारी होना बहुत जरूरी है, तो चलिए जानते हैं की FII and DII क्या है।

दोस्तों Today के समय online trading का बड़ा जमाना है और अपना देश हो या विदेश एक जगह से आप Online घर बैठे दोस्तों किसी भी company में आप अपना पैसे लगा सकते है and शेयर खरीद सकते है. लेकिन आपको बता दें की यह तभी काम कर सकते है जब आपको यह पता हो‌ कि वो कौन सा तरीका है जिससे आप विदेशी और अपने देश की कम्पनिया में trading किया जा सकता है? अगर आपको यह नहीं पता है तो कोई टेंशन बात नही आज मैं आपको बताऊंगा की FII and DII क्या होते है? और इनका क्या इस्तेमाल online share market में यह किस लिया होता है।

FII and DII क्या है?

अगर दोस्तों आप सभी तो ये जान गए होंगे की FII full form क्या होता है?और यह भी जान गए होंगे की DII का full form क्या होता है दोस्तों? यह दोनों संस्थान इन्वेस्टमेंट के लिए ही काम करती रहती है और इस कारण trading market में इनका बहुत बड़ा रोल होता है. अगर दोस्तों आपको India and foreign country में छोटे-बड़े सभी इन्वेस्टमेंट्स करने है तो आपकों Foreign Institutional Investorsऔर Domestic Institutional Investors‌ के बारे में अच्छी खासी जानकारी रखनी होगी. दोस्तों आप किस भी तरह का investment करना चाहते हो तो दोस्तों इन दोनों के बीच का अंतर जानना जरूरी है आपके लिए इसके लिए और यहाँ पर Fresh market के हिसाब इसका analysis किया गया है और इसके बारे में पूरी जानकारी यहाँ पर है.

Domestic Institutional Investors‌ के अन्तर्गत लगभग ₹20.3 lakh करोड़ के assets manage किये गए हैं दोस्तों जबकि Foreign Institutional Investors के अन्तर्गत लगभग ₹24.5 लाख करोड़ का assets manage किया जाता है. This year DII के इन्वेस्टमेंट में 11% की गिरावट देखी गई है दोस्तों और FII के अंतर्गत minimum 22% की गिरावट नजर आई है.

(2020) December लास्ट में अभी तक DII में लगभग ₹73,000 Crores का investment किया गया है और यही FII यानि foreign country संगठनों ने लगभग ₹40,000 Crores का investment किया गया है. अगर दोस्तों DLL and FLL दोनों का ownership देखी जाती है तो country में एक ही जैसा है, अगर यही जो छोटे-बड़े investors है वह दोनों तरह की संस्थानों में सामान investment करते है तो. इससे यही साबित होता है दोस्तों country के अंदर की संस्थाओं के साथ देश के outside की संस्थाओ पर लोगो का भरोषा एक ही जैसा है दोस्तों।

FII Full Form in Hindi

दोस्तों FII का full form आपको बता दें की Foreign Institutional Investors होता है और दोस्तो‌ इसके कारण देश से बाहर यानि कि (अमेरिका, यूरोप, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, और एशिया ) जैसे सभी बाकि के country में investment करते है. आपको बता दें कि इसके अंतर्गत Insurance companies, investment banks, और mutual funds भी शामिल होते है. जो व्यक्ति foreign country में अपना पैसा लगाना चाहते है और विदेशी निवेश संस्था उनकी help करता है और इसी के माध्यम से वो किसी कंपनी में इसी कारण अपना पैसे लगा सकते है.

Securities and Exchange Board of India दोस्तों जिसका फेमस शॉर्ट name है SEBI इसके अंतर्गत 1450 से ज्यादा बडी companies registered है जो कि FII के लिए ही काम करती है और आपको बता दें कि investors को platform & medium provide ही करती है, जहा से कोई भी foreign companys में आप पैसे लगा सकते है.

1999 में रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने विदेशी investment regulation plan बनाया था जिसके बारे में जानकारी आपको foreign exchange management act के section 6 & 47 से मिल जायेगी और उसके बाद वजूद में आया अब ये FII जिसको manage SEBI के द्वारा किया जाता है.

DII Full Form in Hindi

दोस्तों DII का full form यह होता हैं Domestic Institutional Investors जैसे की आपको इसके नाम से ही idea लगा लिया गया होगा कि ये घरेलु निवेश संस्थाए होती है जो की हिंदुस्तान की कंपनियों में निवेश करने में लोगो की काफी मदद करती है. दोस्तों ज्यादातर DII कोई भी एक व्यक्ति की नहीं है यह पूरी एक संस्था होती है जो की mutual fund और बहुत सी इस तरह के निवेश नीतिओ के माध्यम साथ एक-एक करके लोगो से पैसे इकट्ठा करती है और फिर किसी भी बड़ी (company) में मुनाफे के लिए निवेश करती रहती है.

अगर दोस्तों ताज़ा रिपोर्ट के हिसाब से देखा तो ₹55,595 crores का Indian equity मार्केट है और यह online के कारण की वजह से बहुत तेजी के साथ बढ़ रहा है दोस्तों और अब लोगो का भारत शेयर मार्केट में इंटरेस्ट बहुत ही बढ़ रहा है लोग बहुत ही छोटे-छोटे इन्वेस्टमेंट स्कीम के माध्यम से बहुत सारे लोग किसी ना किसी DII संस्था में invest कर रहे है. घरेलू संस्थागत निवेश के अंतर्गत बहुत सी संस्थाए आती है और इनमे से कुछ मुख्य कारण है.

दोस्तों आपने LIC (Life Insurance Corporation of India): तो सुना ही होगा यह भारत देश की सबसे बड़ी investment और insurance company है जिसे Indian government द्वारा सवाला जाता है दोस्तों आज इस company में 10 लाख से अधिक employees काम करते है और ये investment के लिए सबसे भरोसा संस्था है.

अब आता है दोस्तों UTI (Unit Trust of India): यह एक बड़ी पब्लिक इन्वेस्टमेंट संस्था है and इसको सन् 1964 में ही बनाया गया है, यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया एक्ट यह, सन् 1963 के अंतर्गत ही इसका काम छोटे एरिया देशों के लिए इन्वेस्टर्स के साथ ही काम करना होता है और जिसमें कितने का invest होगा ये सभी काम-काज UTI ही तय करता है.

HDFC Mutual Fund: यह दोस्तों भारत देश के सबसे बड़े कॉर्पोरेट बैंक HDFC की एक बड़ी संस्था है और एक बड़ी लीडिंग म्यूच्यूअल फण्ड इन्वेस्टमेंट कंपनी है दोस्तों. आपको बता दें कि ताज़ा रिकॉर्ड के अनुसार minimum ₹3.6 trillion से भी ज्यादा का asset manage किया जाता है इसके द्वारा ही.

अगर दोस्तों इसी तरह के और भी बहुत कंपनी है , और भी गैर government संगठन है जो की Domestic Institutional Investors के रूप में any देश में काम कर रहे है दोस्तों. इन्हें बहुत सारे संस्थान तो ऐसी है की बड़े-बड़े कम्पनीज़ में 60% से वी ज्यादा शेयर उनको ही मिलता है.

Final Words

दोस्तों उम्मीद करते हैं कि आपको FII full form और DII full form के बारे बहुत अच्छी से सभी जरुरी जानकारी मिल गई होगी,और साथ मैं यह भी पता चल गया होगा कि FII and DII क्या है, अगर दोस्तों आप सब share market, Mutual fund और दूसरे investment schemes में interest रखते है या चाहते हो. तो आपको India and foreign country के तरह investment companys के बारे में पूरी अच्छे से जानकारी होना चाहिए तो आपकी एक गलती आपको डुबो सकती है आपको इसके लिए बिजनेसमैन लोगो से सलाह लेनी चाहिए. अगर आपको कोई विचार या सुझाव शेयर करना चाहते है तो comment करके इसके बारे में जरूर बताएं।

Leave a Comment

Your email address will not be published.